Raj Basha

 

rajaBaaYaa

हिन्दीसंवैधानिकरूपसेभारतकीप्रथमराजभाषाऔरभारतकीसबसेअधिकबोलीऔरसमझीजानेवालीभाषाहै।चीनीकेबादयहविश्वमेंसबसेअधिकबोलीजानेवालीभाषाभीहै।

हिन्दीराष्ट्रभाष, राजभाष, सम्पर्कभाष, जनभाषाकेसोपानोंकोपारकरविश्वभाषाबननेकीओरअग्रसरहै।भाषाविकासक्षेत्रसेजुड़ेवैज्ञानिकोंकीभविष्यवाणीहिन्दीप्रेमियोंकेलिएबड़ीसन्तोषजनकहैकिआनेवालेसमयमेंविश्वस्तरपरअन्तर्राष्ट्रीयमहत्त्वकीजोचन्दभाषाएँहोंगीउनमेंहिन्दीभीप्रमुखहोगी।

हिंदीभाषाकेउज्ज्वलस्वरूपकाभानकरानेकेलिएयहआवश्यकहैकिउसकीगुणवत्त, क्षमत, शिल्प-कौशलऔरसौंदर्यकासही-सहीआकलनकियाजाए।यदिऐसाकियाजासकेतोसहजहीसबकीसमझमेंयहआजाएगाकि -

1.     संसारकीउन्नतभाषाओंमेंहिंदीसबसेअधिकव्यवस्थितभाषाह

2.     वहसबसेअधिकसरलभाषाह

3.     वहसबसेअधिकलचीलीभाषाह

4.     वहएकमात्रऐसीभाषाहैजिसकेअधिकतरनियमअपवादविहीनहैंतथ

5.     वहसच्चेअर्थोंमेंविश्वभाषाबननेकीपूर्णअधिकारीह

6.     हिन्दीलिखनेकेलियेप्रयुक्तदेवनागरीलिपिअत्यन्तवैज्ञानिकहै।

         भारतीयसंविधानमेंराज्योंऔरकेन्द्रशासितप्रदेशोंकेलिएहिन्दीकेअतिरिक्त 21 अन्यभाषाएंराजभाषास्वीकारकीगईहैं।संविधानकीअष्टमअनुसुचिमेंकुल 22 भारतीयभाषाओंस्थानप्राप्तहुआहै।राज्योंकीविधानसभाएंबहुमतकेआधारपरकिसीएकभाषाकोअथवाचाहेंतोएकसेअधिकभाषाओंकोअपनेराज्यकीराज्यभाषाघोषितकरसकतीहैं।

         राष्ट्रभाषासम्पूर्णराष्ट्रकाप्रतिनिधित्वकरतीहै।प्राय: वहअधिकाधिकलोगोंद्वाराबोलीऔरसमझीजानेवालीभाषाहोतीहै।प्राय: राष्ट्रभाषाहीकिसीदेशकीराजभाषाहोतीहै।भारतमें 22 भारतीयभाषाएंराष्ट्रभाषाएंमानीजातीहै।

       विगतवर्षों में किए गए कार्यों के स्वमूल्यांकन औरसमीक्षा के दौरान समिति को राजभाषा के कार्यान्वयन की गति संतोषजनक लगी। समिति सत्र 2011-12 से राजभाषा के कार्यान्वयन की गति को और तीव्र करने  को लेकर प्रतिबद्धहै। विगत तिमाही में निम्नलिखितकार्य सम्पन्न हो चुके हैं, जिनका संक्षिप्त विवरणदिया जा रहा है
1.
हिंदी में प्राप्त पत्रों का उत्तरहिंदी में ही दिया जा रहा है।
2.
विद्यालय के कार्यालय तथा पुस्तकालय से संबंधित सभी मोहरेंद्विभाषी हैं ।

3. सभी सूचना-पट द्विभाषी हैं।     

4- विद्यालय के सभी कम्प्यूटर हिंदी में काम करने में सक्षम हैं ।

5. प्रार्थना सभा कार्यक्रम में हिंदी के कार्यक्रमों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।
6.
विद्यालय में मानक फॉर्मों और अन्य फॉर्मों कीसामग्री द्विभाषी रूप में उपलब्ध  है।

7.विद्यालय के पुस्तकालय में पर्याप्त संख्या में हिंदी पुस्तकें उपलब्ध हैं ।


राजभाषा के निरन्तर उत्थान के लिये विद्यालय निरन्तर प्रयत्नशील है । अन्यकेन्द्रीय विद्यालयों की तरह सितम्बर माह मे हिंदी पखवाड़ा विभिन्न प्रतियोगिताओं , संगीतमय कार्यक्रमों और हिंदीके प्रति जागरूकता कार्यक्रमों के साथ सम्पन्न होताहै। पाठेतर क्रियाकलापों के अंतर्गत पचास प्रतिशत कार्यक्रम हिंदी से संबंधितआयोजित किए जाते हैं।

 ivaValayakIitmaahIirpaoT- samayaanausaarkond`IyaivaValayasaMgaznaxao~Iyakayaa-layakaop`oiYatkIjaarhIhO.

यहविद्यालयsa क्षेत्रकेअंतर्गतआताहैऔरइससमयविद्यालयकेदैनन्दिनकायोंमेंराजभाषाकीस्थितिसंतोषजनकबनानेकीदिशामेंविद्यालयकीराजभाषाकार्यान्वयनसमितिप्रयासकररहीहै। जिसमेंनिम्नलिखितसदस्यहैं  

श्री elaAmarnaaqa

 प्राचार्य (अध्यक्ष राजभाषाकार्यान्वयनसमिति )

EaIlaKnalaalap`aqaimakAQyaapk

EaIhomantkumaar p`aqaimakAQyaapk

EaIrahulasvaNa-kar p`aqaimakAQyaapk saMgaIt